पीटीआई, वाशिंगटन
Published by: Kuldeep Singh
Updated Thu, 10 Jun 2021 12:03 AM IST

अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन
– फोटो : twitter.com/SecDef

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने चीन से उत्पन्न सुरक्षा चुनौतियों का सामना करने के लिए बुधवार को रक्षा मंत्रालय को दिशा-निर्देश जारी किए।

ये दिशा-निर्देश रक्षा मंत्रालय के अधीन चाइना टास्क फोर्स की अंतिम सिफारिशों पर आधारित हैं। इनमें से कुछ कदमों को गोपनीय श्रेणी में रखा जाएगा। पेंटागन ने कहा कि दिशा-निर्देशों में अमेरिका के सहयोगियों और साझेदारों के बीच, खासकर हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करने पर जोर दिया गया है।

ऑस्टिन ने दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा, जो पहल आज मैं पेश कर रहा हूं, वे चीन के प्रति अमेरिका सरकार के व्यापक रुख में निहित हैं और ये हमारे द्वारा राष्ट्रीय रक्षा रणनीति पर किए जा रहे कार्य में मदद करेगी। उन्होंने कहा, यह समय अब आगे बढ़ने का है।

ऑस्टिन ने कहा, जिन कदमों का निर्देश आज मैं दे रहा हूं, उनसे सहयोगियों और साझेदारों के नेटवर्क को चुस्त-दुरुस्त बनाने की विभाग की क्षमता में सुधार होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति जो. बाइडन ने गत फरवरी में रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत चाइना टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की थी। टास्क फोर्स में सेना के तीनों अंगों, विभिन्न लड़ाकू कमानों, रक्षा मंत्री के कार्यालय और खुफिया समुदाय से कर्मियों को शामिल किया गया है।

विस्तार

अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने चीन से उत्पन्न सुरक्षा चुनौतियों का सामना करने के लिए बुधवार को रक्षा मंत्रालय को दिशा-निर्देश जारी किए।

ये दिशा-निर्देश रक्षा मंत्रालय के अधीन चाइना टास्क फोर्स की अंतिम सिफारिशों पर आधारित हैं। इनमें से कुछ कदमों को गोपनीय श्रेणी में रखा जाएगा। पेंटागन ने कहा कि दिशा-निर्देशों में अमेरिका के सहयोगियों और साझेदारों के बीच, खासकर हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करने पर जोर दिया गया है।

ऑस्टिन ने दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा, जो पहल आज मैं पेश कर रहा हूं, वे चीन के प्रति अमेरिका सरकार के व्यापक रुख में निहित हैं और ये हमारे द्वारा राष्ट्रीय रक्षा रणनीति पर किए जा रहे कार्य में मदद करेगी। उन्होंने कहा, यह समय अब आगे बढ़ने का है।

ऑस्टिन ने कहा, जिन कदमों का निर्देश आज मैं दे रहा हूं, उनसे सहयोगियों और साझेदारों के नेटवर्क को चुस्त-दुरुस्त बनाने की विभाग की क्षमता में सुधार होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति जो. बाइडन ने गत फरवरी में रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत चाइना टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की थी। टास्क फोर्स में सेना के तीनों अंगों, विभिन्न लड़ाकू कमानों, रक्षा मंत्री के कार्यालय और खुफिया समुदाय से कर्मियों को शामिल किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here