न्यूज डेस्क, अमर उजाला, आगरा
Published by: Abhishek Saxena
Updated Mon, 07 Jun 2021 12:26 AM IST

सार

महाराज के शिष्य गणेशानंद सरस्वती महाराज ने बताया कि बाबा यह तप लोगों को कोरोना से मुक्ति मिलने के उद्देश्य से कर रहे हैं। 

 

आश्रम में धूनी रमाकर बैठै साधु
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

आगरा के जगनेर में गांव सरैंधी स्थित वनखंडी आश्रम पर साधु गीता गिरि महाराज लोक कल्याण के लिए 31 मई से धूना लगाकर तप पर बैठे हैं। तप के लिए खुले आसमान के नीचे चिलचिलाती धूप में भी अपने चारों तरफ कंडे सुलहा रखे हैं। 

महाराज के शिष्य गणेशानंद सरस्वती महाराज ने बताया कि बाबा यह तप लोगों को कोरोना से मुक्ति मिलने के उद्देश्य से कर रहे हैं। इस दौरान परिसर में गाइडलाइन का भी पालन किया जा रहा है। आश्रम में महाराज के अलावा दो चार व्यक्ति ही रहते हैं। महिलाओं और बच्चे भी उनकी पूजा-सेवा करने के लिए दोपहर 2:00 बजे पहुंचते हैं।

पाचवीं बार तप पर बैठे हैं
महाराज के शिष्य ने बताया कि गीता गिरि महाराज की यह पांचवी तपस्या है। इससे पहले भी बह इसी आश्रम पर तप पर बैठ चुके हैं।

आगरा में कोरोना: साप्ताहिक बंदी में संक्रमण के नए मामले घटे, 24 घंटे में 18 संक्रमित, दो मरीजों की मौत
 

आगरा में संक्रमण के मामले हुए कम
आगरा में कोरोना कर्फ्यू खत्म होने के बाद बढ़ी कोरोना संक्रमण की रफ्तार साप्ताहिक बंदी में थोड़ी कम हुई है। इसका असर रविवार को देखने को मिला है। कोरोना संक्रमण के नए मामलों में कमी आई है। पिछले 24 घंटे में 7206 लोगों की जांच में 18 नए संक्रमित मरीज मिले हैं। इससे पूर्व शनिवार 44 और शुक्रवार को 33 नए मरीज मिले थे। 

प्रशासन की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार जिले में अब तक 9.73 लाख लोगों की कोविड जांच हो चुकी है। कुल 25689 मरीज मिले हैं। जिनमें 25007 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज हो चुके हैं। स्वस्थ होने की दर 97.35 फीसदी है। वर्तमान में सक्रिय केस 255 हैं। 

सपने हुए चकनाचूर: आगरा में कार के लिए विवाहिता को पीटा, सात महीने पहले हुई थी शादी, पड़ोसियों ने बचाया 
 

विस्तार

आगरा के जगनेर में गांव सरैंधी स्थित वनखंडी आश्रम पर साधु गीता गिरि महाराज लोक कल्याण के लिए 31 मई से धूना लगाकर तप पर बैठे हैं। तप के लिए खुले आसमान के नीचे चिलचिलाती धूप में भी अपने चारों तरफ कंडे सुलहा रखे हैं। 

महाराज के शिष्य गणेशानंद सरस्वती महाराज ने बताया कि बाबा यह तप लोगों को कोरोना से मुक्ति मिलने के उद्देश्य से कर रहे हैं। इस दौरान परिसर में गाइडलाइन का भी पालन किया जा रहा है। आश्रम में महाराज के अलावा दो चार व्यक्ति ही रहते हैं। महिलाओं और बच्चे भी उनकी पूजा-सेवा करने के लिए दोपहर 2:00 बजे पहुंचते हैं।

पाचवीं बार तप पर बैठे हैं

महाराज के शिष्य ने बताया कि गीता गिरि महाराज की यह पांचवी तपस्या है। इससे पहले भी बह इसी आश्रम पर तप पर बैठ चुके हैं।

आगरा में कोरोना: साप्ताहिक बंदी में संक्रमण के नए मामले घटे, 24 घंटे में 18 संक्रमित, दो मरीजों की मौत

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here