न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर
Published by: शिखा पांडेय
Updated Thu, 10 Jun 2021 12:14 AM IST

सार

हैलट प्रबंधन थोड़ा-थोड़ा करके मौतों के मामले बता रहा है लेकिन निजी कोविड अस्पताल अभी मौतों की सूची दबाए हुए हैं। यह माना जा रहा है कि हैलट के अलावा निजी अस्पतालों में अभी कम से कम सौ मामले और होंगे जिनकी डाटा फीडिंग नहीं की गई है।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कानपुर के हैलट अस्पताल में कोरोना से 13 और पुरानी मौतों का खुलासा हुआ है। इन मौतों को राज्य कोविड पोर्टल में दर्ज नहीं किया गया था। फाइलें पलटी गईं तो पता चला कि 13 और रोगी कोरोना के कारण काल के गाल में चले गए थे। बुधवार को इन मौतों का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया।

इसके साथ ही शहर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1819 पहुंच चुकी है। वहीं, बुधवार को किसी कोविड रोगी की मौत नहीं हुई, सिर्फ छह लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। हर रोज किस्तों में निकल रही कोरोना रोगियों की मौतों की सूची जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज और स्वास्थ्य विभाग के सिस्टम पर सवालिया निशान लगा रही है।

हैलट प्रबंधन थोड़ा-थोड़ा करके मौतों के मामले बता रहा है लेकिन निजी कोविड अस्पताल अभी मौतों की सूची दबाए हुए है। यह माना जा रहा है कि हैलट के अलावा निजी अस्पतालों में अभी कम से कम सौ मामले और होंगे जिनकी डाटा फीडिंग नहीं की गई है। निजी अस्पतालों ने बीच में कुछ कोरोना डेथ बताईं, इसके बाद सन्नाटा खींच लिया। सीएमओ डॉ. नेपाल सिंह का कहना है कि सभी मौतों और संक्रमितों के डाटा फीडिंग की कोशिश की जा रही है।

आंकड़ों पर एक नजर
कुल संक्रमित- 82568
अस्पतालों में ठीक हुए- 11272
होम आइसोलेशन में ठीक हुए- 69215
कोरोना एक्टिव केस- 262
कोरोना संदिग्धों की सैंपलिंग- 8840

विस्तार

कानपुर के हैलट अस्पताल में कोरोना से 13 और पुरानी मौतों का खुलासा हुआ है। इन मौतों को राज्य कोविड पोर्टल में दर्ज नहीं किया गया था। फाइलें पलटी गईं तो पता चला कि 13 और रोगी कोरोना के कारण काल के गाल में चले गए थे। बुधवार को इन मौतों का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया।

इसके साथ ही शहर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1819 पहुंच चुकी है। वहीं, बुधवार को किसी कोविड रोगी की मौत नहीं हुई, सिर्फ छह लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। हर रोज किस्तों में निकल रही कोरोना रोगियों की मौतों की सूची जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज और स्वास्थ्य विभाग के सिस्टम पर सवालिया निशान लगा रही है।

हैलट प्रबंधन थोड़ा-थोड़ा करके मौतों के मामले बता रहा है लेकिन निजी कोविड अस्पताल अभी मौतों की सूची दबाए हुए है। यह माना जा रहा है कि हैलट के अलावा निजी अस्पतालों में अभी कम से कम सौ मामले और होंगे जिनकी डाटा फीडिंग नहीं की गई है। निजी अस्पतालों ने बीच में कुछ कोरोना डेथ बताईं, इसके बाद सन्नाटा खींच लिया। सीएमओ डॉ. नेपाल सिंह का कहना है कि सभी मौतों और संक्रमितों के डाटा फीडिंग की कोशिश की जा रही है।

आंकड़ों पर एक नजर

कुल संक्रमित- 82568

अस्पतालों में ठीक हुए- 11272

होम आइसोलेशन में ठीक हुए- 69215

कोरोना एक्टिव केस- 262

कोरोना संदिग्धों की सैंपलिंग- 8840

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here