गडकरी का ऑटोमोबाइल कंपनियों से सवाल: अमीरों की गाड़ियों में 8 एयरबैग और गरीब की में सिर्फ 2 क्यों, कहा- गरीबों को भी मिलनी चाहिए सुरक्षा

1


  • Hindi News
  • Business
  • Why Do The Rich Have 8 Airbags And The Poor Have One? Where ‘the Poor Should Also Get Protection’

नई दिल्ली4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के अनुसार छोटी कारों में भी सभी यात्रियों के लिए एयरबैग होने चाहिए, ताकि लोअर, मिडिल और गरीब तबके को भी यात्रा के दौरान जरूरी सुरक्षा मिल सके।

PTI को दिए इंटरव्यू में गडकरी ने ऑटोमोबाइल कंपनियों से सवाल करते हुए कहा कि कंपनियां अमीर लोगों द्वारा खरीदी जाने वाली बड़ी कारों में ही 8 एयरबैग उपलब्ध कराती हैं वहीं छोटी कारों में 2 से 3 एयरबैग ही रहते हैं। ऐसा क्यों? उन्होंने कहा कि हमारे देश में गरीबों को भी सुरक्षा मिलनी चाहिए।

कम से कम 6 एयरबैग जरूरी
उन्होंने कहा कि छोटी कार ज्यादातर लोअर और मिडिल क्लास के लोग ही खरीदते हैं। यदि उनकी कारों में एयरबैग नहीं होगा, तो दुर्घटना की स्थिति में उनकी जान जा सकती है। ऐसे में मैं सभी कार निर्माता कंपनियों से अपील करूंगा कि वो अपनी सभी कारों में कम से कम 6 एयरबैग उपलब्ध कराएं।

कार की बढ़ जाएगी कीमत
नितिन गडकरी ने इस बात को स्वीकार किया एयरबैग की संख्या बढ़ाने से छोटी कारों की लागत कम से कम 3,000 से 4,000 रुपए बढ़ जाएगी। लेकिन गरीबों को भी पूरी सुरक्षा मिलनी चाहिए।

1 अप्रैल 2021 से दो एयरबैग अनिवार्य
1 अप्रैल 2021 से सभी मॉडल की नई कारों में दो एयरबैग अनिवार्य कर दिए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट की सड़क सुरक्षा पर बनी समिति के सुझाव के बाद मंत्रालय ने यह कदम उठाया है।

ऑटो मोबाइल इंड्रस्ट्री ने जताई चिंता
उनका यह बयान ऐसे समय आया है जबकि ऑटो मोबाइल इंड्रस्ट्री ने इस बात को लेकर चिंता जताई है कि ज्यादा टैक्स तथा सख्त सुरक्षा नियमों की वजह से उनके प्रोडक्ट महंगे हो गए हैं।

खबरें और भी हैं…


Leave a Reply