अमर उजाला ब्यूरो, गुरुग्राम
Published by: नोएडा ब्यूरो
Updated Sun, 06 Jun 2021 07:06 PM IST

सार

डॉक्टरों के मुताबिक पिछले दिनों पेट में दर्द की शिकायत के बाद उसे पीजीआई रोहतक में भर्ती कराया गया था। वहां डॉक्टरों ने पेट का सीटी स्कैन किया। इसके बाद डॉक्टरों ने पेट स्कैन और दूसरी जांच की सलाह दी लेकिन उसकी वहां सुविधा नहीं थी।

गुरमीत राम रहीम सिंह
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

दुष्कर्म मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहे राम रहीम को रविवार को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया। पेट दर्द के बाद टेस्ट के लिए उसे मेदांता लाया गया था। अस्पताल में उसकी कोरोना जांच की गई, जिसमें वह संक्रमित पाया गया।

डॉक्टरों के मुताबिक पिछले दिनों पेट में दर्द की शिकायत के बाद उसे पीजीआई रोहतक में भर्ती कराया गया था। वहां डॉक्टरों ने पेट का सीटी स्कैन किया। इसके बाद डॉक्टरों ने पेट स्कैन और दूसरी जांच की सलाह दी लेकिन उसकी वहां सुविधा नहीं थी। इसलिए उसे मेदांता ले आया गया। पीजीआई रोहतक में उसने कोरोना जांच कराने से मना कर दिया था।

मेदांता प्रबंधन के मुताबिक राम रहीम को रविवार सुबह करीब 11:30 बजे अस्पताल लाया गया। वहां वरिष्ठ चिकित्सकों की निगरानी में उसकी प्राथमिक स्वास्थ्य जांच की गई। इसके बाद कोरोना जांच हुई, जिसमें वह संक्रमित पाया गया। डॉक्टरों के मुताबिक हार्ट और पेट की जांच रिपोर्ट आने के बाद उसका उपचार किया जाएगा। राम रहीम लंबे समय से ब्लड प्रेशर व डायबिटीज से भी पीड़ित है।

सूत्रों के मुताबिक राम रहीम अस्पताल पहुंचते ही हनीप्रीत से मिलने की जिद कर रहा था। सुरक्षा कारणों से अस्पताल के बाहर अतिरिक्त पुलिस की तैनाती की गई है। राम रहीम के मेदांता पहुंचते ही उसके समर्थक भी वहां पहुंच गए लेकिन लेकिन किसी को भी अस्पताल परिसर में दाखिल नहीं होने दिया गया।

विस्तार

दुष्कर्म मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहे राम रहीम को रविवार को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया। पेट दर्द के बाद टेस्ट के लिए उसे मेदांता लाया गया था। अस्पताल में उसकी कोरोना जांच की गई, जिसमें वह संक्रमित पाया गया।

डॉक्टरों के मुताबिक पिछले दिनों पेट में दर्द की शिकायत के बाद उसे पीजीआई रोहतक में भर्ती कराया गया था। वहां डॉक्टरों ने पेट का सीटी स्कैन किया। इसके बाद डॉक्टरों ने पेट स्कैन और दूसरी जांच की सलाह दी लेकिन उसकी वहां सुविधा नहीं थी। इसलिए उसे मेदांता ले आया गया। पीजीआई रोहतक में उसने कोरोना जांच कराने से मना कर दिया था।

मेदांता प्रबंधन के मुताबिक राम रहीम को रविवार सुबह करीब 11:30 बजे अस्पताल लाया गया। वहां वरिष्ठ चिकित्सकों की निगरानी में उसकी प्राथमिक स्वास्थ्य जांच की गई। इसके बाद कोरोना जांच हुई, जिसमें वह संक्रमित पाया गया। डॉक्टरों के मुताबिक हार्ट और पेट की जांच रिपोर्ट आने के बाद उसका उपचार किया जाएगा। राम रहीम लंबे समय से ब्लड प्रेशर व डायबिटीज से भी पीड़ित है।

सूत्रों के मुताबिक राम रहीम अस्पताल पहुंचते ही हनीप्रीत से मिलने की जिद कर रहा था। सुरक्षा कारणों से अस्पताल के बाहर अतिरिक्त पुलिस की तैनाती की गई है। राम रहीम के मेदांता पहुंचते ही उसके समर्थक भी वहां पहुंच गए लेकिन लेकिन किसी को भी अस्पताल परिसर में दाखिल नहीं होने दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here