सार

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने बताया है कि अब टीकाकरण के लिए कहीं दूर नहीं जाना पड़ेगा लोगों के पोलिंग बूथ पर ही उनका टीकाकरण होगा…

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को 45 साल से ऊपर की उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए बड़ा एलान किया गया है। उन्होंने बताया कि अब दिल्ली में पोलिंग स्टेशन पर ही वैक्सीनेशन होगा। इसके लिए उन्होंने पूरी योजना विस्तार से प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बताई।

केजरीवाल के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें-
45 साल से ऊपर की उम्र के लोगों के लिए आज से दिल्ली में नई स्कीम शुरू की जा रही है, जिसका नाम है ‘जहां वोट वहां वैक्सीनेशन’।
इस अभियान के तहत हमारा उद्देश्य ये है कि चार हफ्ते के अंदर अगर वैक्सीन की कमी नहीं हुई तो 45 साल से ऊपर की उम्र के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगा दी जाएगी।
दिल्ली में लगभग 57 लाख लोग 45 से ऊपर की उम्र के हैं। इसमें से 27 लाख लोगों को पहली डोज लगाई जा चुकी है। इन 30 लाख लोगों को वैक्सीन लगानी है।
हमने जो दिल्ली में टीकाकरण के सेंटर खोले हैं उनमें लोगों का आना बहुत कम हो गया है, यह एक बड़ी समस्या है। इसकी वजह से काफी दवा बचती है।
इस अभियान के तहत हमने तय किया है कि अब हमें लोगों के घर तक जाना पड़ेगा। इस अभियान के तहत हम लोगों के घर-घर तक जाएंगे।
 

विस्तार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को 45 साल से ऊपर की उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए बड़ा एलान किया गया है। उन्होंने बताया कि अब दिल्ली में पोलिंग स्टेशन पर ही वैक्सीनेशन होगा। इसके लिए उन्होंने पूरी योजना विस्तार से प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बताई।

केजरीवाल के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें-

45 साल से ऊपर की उम्र के लोगों के लिए आज से दिल्ली में नई स्कीम शुरू की जा रही है, जिसका नाम है ‘जहां वोट वहां वैक्सीनेशन’।

इस अभियान के तहत हमारा उद्देश्य ये है कि चार हफ्ते के अंदर अगर वैक्सीन की कमी नहीं हुई तो 45 साल से ऊपर की उम्र के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगा दी जाएगी।

दिल्ली में लगभग 57 लाख लोग 45 से ऊपर की उम्र के हैं। इसमें से 27 लाख लोगों को पहली डोज लगाई जा चुकी है। इन 30 लाख लोगों को वैक्सीन लगानी है।

हमने जो दिल्ली में टीकाकरण के सेंटर खोले हैं उनमें लोगों का आना बहुत कम हो गया है, यह एक बड़ी समस्या है। इसकी वजह से काफी दवा बचती है।

इस अभियान के तहत हमने तय किया है कि अब हमें लोगों के घर तक जाना पड़ेगा। इस अभियान के तहत हम लोगों के घर-घर तक जाएंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here