न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: देव कश्यप
Updated Fri, 11 Jun 2021 07:42 AM IST

वायरल न्यूज पेपर की कटिंग
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस संक्रमण से पूरी दुनिया और खासतौर से भारत बुरी तरह से जूझ रहा है। इसका कोई इलाज नहीं है, संक्रमण से बचने के लिए लगातार टीका लगवाने पर जोर दिया जा रहा है। विदेश यात्रा और कई कामों के लिए टीका लिया होना जरूरी भो हो गया है।

इस बीच एक मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। एक मैट्रिमोनियल एड की कटिंग की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है। जिसमें लड़की ने कहा है कि उसे ऐसा लड़का चाहिए, जिसे कोविशील्ड की दोनों डोज लग चुकी हों। ये मैसेज कई सासंद शशि थरूर ने भी शेयर किया है लेकिन इस मैसेज की सच्चाई क्या है, ये जान लीजिए।

कांग्रेस नेता शशि थरूर समेत हजारों लोगों ने इस मैसेज को शेयर किया है। 4 जून, 2021 के इस विज्ञापन में लड़की की ओर से अपनी हाइट, रंग और शिक्षा को लेकर जानकारी देने के बाद लिखा गया है कि उसे कोविशील्ड की दोनों डोज लग चुकी है। उसे वही लड़का शादी के लिए प्रपोजल भेजे जिसने कोविशील्ड की दोनों खुराक ले ली हों।

इस विज्ञापन को शेयर करते हुए शशि थरूर ने कहा कि ‘वैक्सीन ले चुकी दुल्हन ने टीका लगवा चुके दूल्हे की मांग की है। इसमें कोई शक नहीं कि पसंदीदा शादी का तोहफा एक बूस्टर शॉट होगा। क्या यह हमारा न्यू नॉर्मल होगा?’ इस पर लाखों लोगों ने लाइक और कमेंट किए हैं। इसको हजारों लोगों ने शेयर भी किया है।
 

क्या है इस विज्ञापन की सच्चाई? सोशल मीडिया पर वायरल हुआ ये विज्ञापन फर्जी है। किसी लड़की ने ऐसा कोई विज्ञापन दिया ही नहीं है। इसे एडिटिंग टूल के इस्तेमाल से तैयार कर शेयर कर दिया गया और ये वायरल हो गया। यहां तक कि कई सोशल यूजर्स ने शशि थरूर के ट्वीट पर ही न्यूजपेपर की ऐसी कई कटिंग शेयर की हैं, जिनमें इसी तरह की बातें लिखी गई हैं। यूजर्स ने बताया कि इसे एक मोबाइल ऐप से बनाया जा सकता है। ऐसे में साफ है कि इसमें सच्चाई नहीं है।

शशि थरूर के ट्वीट पर कमेंट करते हुए एक यूजर ने बताया कि यह कटिंग फेक है और इसे एक मोबाइल ऐप के जरिये बनाया गया है। वहीं, कई यूजर्स ने कमेंट करते हुए कुछ न्यूजपेपर कटिंग शेयर किए, जो वायरल हो रहे कटिंग जैसे ही थे।

वायरल न्यूजपेपर कटिंग फेक है
इस वायरल मैसेज की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर ‘fake newspaper generator’ सर्च किया, तो हमें fodey.com नामक एक वेबसाइट मिला जिसमें वायरल कटिंग जैसा ही क्लिप मिला। इस एप पर हमने वायरल कटिंग के कंटेंट लिखकर न्यूज पेपर जनरेट करके देखा तो हमें हू-ब-हू वैसा ही कटिंग मिला। इससे स्पष्ट होता है कि वायरल न्यूजपेपर कटिंग फेक है।

विस्तार

कोरोना वायरस संक्रमण से पूरी दुनिया और खासतौर से भारत बुरी तरह से जूझ रहा है। इसका कोई इलाज नहीं है, संक्रमण से बचने के लिए लगातार टीका लगवाने पर जोर दिया जा रहा है। विदेश यात्रा और कई कामों के लिए टीका लिया होना जरूरी भो हो गया है।

इस बीच एक मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। एक मैट्रिमोनियल एड की कटिंग की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है। जिसमें लड़की ने कहा है कि उसे ऐसा लड़का चाहिए, जिसे कोविशील्ड की दोनों डोज लग चुकी हों। ये मैसेज कई सासंद शशि थरूर ने भी शेयर किया है लेकिन इस मैसेज की सच्चाई क्या है, ये जान लीजिए।

कांग्रेस नेता शशि थरूर समेत हजारों लोगों ने इस मैसेज को शेयर किया है। 4 जून, 2021 के इस विज्ञापन में लड़की की ओर से अपनी हाइट, रंग और शिक्षा को लेकर जानकारी देने के बाद लिखा गया है कि उसे कोविशील्ड की दोनों डोज लग चुकी है। उसे वही लड़का शादी के लिए प्रपोजल भेजे जिसने कोविशील्ड की दोनों खुराक ले ली हों।

इस विज्ञापन को शेयर करते हुए शशि थरूर ने कहा कि ‘वैक्सीन ले चुकी दुल्हन ने टीका लगवा चुके दूल्हे की मांग की है। इसमें कोई शक नहीं कि पसंदीदा शादी का तोहफा एक बूस्टर शॉट होगा। क्या यह हमारा न्यू नॉर्मल होगा?’ इस पर लाखों लोगों ने लाइक और कमेंट किए हैं। इसको हजारों लोगों ने शेयर भी किया है।

 

क्या है इस विज्ञापन की सच्चाई? सोशल मीडिया पर वायरल हुआ ये विज्ञापन फर्जी है। किसी लड़की ने ऐसा कोई विज्ञापन दिया ही नहीं है। इसे एडिटिंग टूल के इस्तेमाल से तैयार कर शेयर कर दिया गया और ये वायरल हो गया। यहां तक कि कई सोशल यूजर्स ने शशि थरूर के ट्वीट पर ही न्यूजपेपर की ऐसी कई कटिंग शेयर की हैं, जिनमें इसी तरह की बातें लिखी गई हैं। यूजर्स ने बताया कि इसे एक मोबाइल ऐप से बनाया जा सकता है। ऐसे में साफ है कि इसमें सच्चाई नहीं है।

शशि थरूर के ट्वीट पर कमेंट करते हुए एक यूजर ने बताया कि यह कटिंग फेक है और इसे एक मोबाइल ऐप के जरिये बनाया गया है। वहीं, कई यूजर्स ने कमेंट करते हुए कुछ न्यूजपेपर कटिंग शेयर किए, जो वायरल हो रहे कटिंग जैसे ही थे।

वायरल न्यूजपेपर कटिंग फेक है

इस वायरल मैसेज की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर ‘fake newspaper generator’ सर्च किया, तो हमें fodey.com नामक एक वेबसाइट मिला जिसमें वायरल कटिंग जैसा ही क्लिप मिला। इस एप पर हमने वायरल कटिंग के कंटेंट लिखकर न्यूज पेपर जनरेट करके देखा तो हमें हू-ब-हू वैसा ही कटिंग मिला। इससे स्पष्ट होता है कि वायरल न्यूजपेपर कटिंग फेक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here