स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, दोहा
Published by: Kuldeep Singh
Updated Mon, 07 Jun 2021 02:42 AM IST

भारतीय फुटबॉल टीम
– फोटो : ट्विटर

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

सुनील छेत्री की अगुवाई वाली भारतीय फुटबॉल (105 रैंकिंग) टीम सोमवार को अपने से कम रैंकिंग के बांग्लादेश (184) के खिलाफ विश्व कप और एशिया कप क्वालिफायर में अपनी पहली जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी।

छह मैचों में एक भी जीत दर्ज नहीं करने वाली भारतीय टीम तीन अंकों के साथ ग्रुप ई में चौथे स्थान पर है। टीम विश्व कप के लिए क्वालिफाई करने की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी है, लेकिन 2023 में होने वाले एश्यिा कप का टिकट कटाने की उम्मीदें अभी बाकी हैं।

अभी यह भी तय नहीं है कि भारतीय टीम सीधे एशिया कप क्वालिफायर के तीसरे दौर में प्रवेश कर लेगी। क्योंकि आठ ग्रुपों में से चौथे स्थान पर रहने वाली शीर्ष चार टीमें ही अगले दौर के लिए क्वालिफाई करेंगी।

6 साल से विश्व कप क्वालिफायर में जीत दर्ज नहीं कर पाया है भारत 
अभी तक चौथे स्थान पर चल रही छह टीमों के भारत से ज्यादा अंक हैं। ऐसे में अगर इगोर स्टिमक की टीम को तीसरे दौर के लिए क्वालिफाई करने का मौका बनाना है तो उसे हर हाल में बांग्लादेश को हराना होगा। यही नहीं यह भारत की पिछले छह वर्षों में विश्व कप क्वालिफायर में पहली जीत होगी।

उसने पिछली जीत नवंबर 2015 में गुआम के खिलाफ बंगलूरू में 1-0 से दर्ज की थी। एशियाई चैंपियन कतर के खिलाफ पिछले मुकाबले में दस खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए भारत को 0-1 से हार मिली थी। 

संक्रमण से उबरे थापा टीम से जुड़े 
भारतीय मिडफिल्डर अनिरुद्ध थापा कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद रविवार को टीम से जुड़ गए। बांगलादेश के खिलाफ मैच से पहले आयोजन समिति के डाक्टरों ने थापा को टीम में शामिल होने की मंजूरी दे दी। तेईस वर्षीय थापा तीन जून को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उसके बाद से टीम होटल में एकांतवास में थे। थापा कतर के खिलाफ मुकाबले में नहीं खेल पाए थे।

विस्तार

सुनील छेत्री की अगुवाई वाली भारतीय फुटबॉल (105 रैंकिंग) टीम सोमवार को अपने से कम रैंकिंग के बांग्लादेश (184) के खिलाफ विश्व कप और एशिया कप क्वालिफायर में अपनी पहली जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी।

छह मैचों में एक भी जीत दर्ज नहीं करने वाली भारतीय टीम तीन अंकों के साथ ग्रुप ई में चौथे स्थान पर है। टीम विश्व कप के लिए क्वालिफाई करने की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी है, लेकिन 2023 में होने वाले एश्यिा कप का टिकट कटाने की उम्मीदें अभी बाकी हैं।

अभी यह भी तय नहीं है कि भारतीय टीम सीधे एशिया कप क्वालिफायर के तीसरे दौर में प्रवेश कर लेगी। क्योंकि आठ ग्रुपों में से चौथे स्थान पर रहने वाली शीर्ष चार टीमें ही अगले दौर के लिए क्वालिफाई करेंगी।

6 साल से विश्व कप क्वालिफायर में जीत दर्ज नहीं कर पाया है भारत 

अभी तक चौथे स्थान पर चल रही छह टीमों के भारत से ज्यादा अंक हैं। ऐसे में अगर इगोर स्टिमक की टीम को तीसरे दौर के लिए क्वालिफाई करने का मौका बनाना है तो उसे हर हाल में बांग्लादेश को हराना होगा। यही नहीं यह भारत की पिछले छह वर्षों में विश्व कप क्वालिफायर में पहली जीत होगी।

उसने पिछली जीत नवंबर 2015 में गुआम के खिलाफ बंगलूरू में 1-0 से दर्ज की थी। एशियाई चैंपियन कतर के खिलाफ पिछले मुकाबले में दस खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए भारत को 0-1 से हार मिली थी। 

संक्रमण से उबरे थापा टीम से जुड़े 

भारतीय मिडफिल्डर अनिरुद्ध थापा कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद रविवार को टीम से जुड़ गए। बांगलादेश के खिलाफ मैच से पहले आयोजन समिति के डाक्टरों ने थापा को टीम में शामिल होने की मंजूरी दे दी। तेईस वर्षीय थापा तीन जून को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उसके बाद से टीम होटल में एकांतवास में थे। थापा कतर के खिलाफ मुकाबले में नहीं खेल पाए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here