26.7 C
Miami
Monday, October 18, 2021
HomeLanguageहिंदीलखीमपुर हिंसा मामला: नवजोत सिंह सिद्धू मौन धरने पर बैठे, मंत्री के...

लखीमपुर हिंसा मामला: नवजोत सिंह सिद्धू मौन धरने पर बैठे, मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी की मांग; इंटरनेट सेवाएं फिर बंद


लखनऊ/लखीमपुर8 घंटे पहले

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू लखीमपुर खीरी में मौन व्रत और अनशन पर बैठ गए हैं। सिद्धू मृतक किसान लवप्रीत के घर पर गए थे। उन्होंने कहा कि जब तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक मैं मौन धारण कर भूख हड़ताल पर बैठा रहूंगा।

वहीं, सुप्रीम कोर्ट से फटकार के बाद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ने शुक्रवार को कहा कि बेटा आशीष कल (शनिवार) हाजिर होगा। पुलिस का सहयोग भी करेगा। दरअसल, आरोपी आशीष की गिरफ्तारी को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में अजय मिश्रा ने खुद मीडिया के सामने आकर यह बयान दिया है।

लखीमपुर में मृतक किसान के परिवार से मुलाकात करते सिद्धू।

तीसरी बार हुई बंद इंटरनेट सेवाएं

  • 3 अक्टूबर को पहली बार इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी गई थी।
  • फिर 5 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी, सीतापुर और बहराइच 3 जिलों की इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थी।
  • 48 घंटे के बाद शुक्रवार को लखीमपुर खीरी की इंटरनेट सेवाएं बहाल हुई थी।

मेरा बेटा भागा नहीं है : अजय मिश्रा

अजय मिश्रा ने कहा कि मेरा बेटा कहीं भागा नहीं है। वो निर्दोष है, आज उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं था, कल वो सबूतों के साथ जांच एजेंसी के सामने पेश होगा। जांच होने दीजिए, सच सभी के सामने आ जाएगा। इसके अलावा इस्तीफे की मांग को लेकर अजय मिश्रा ने कहा कि विपक्ष का काम ही है इस्तीफा मांगना।

उन्होंने कहा कि मेरा बेटा उस घटना में शामिल नहीं था। किसी भी वीडियो में उसका जिक्र नहीं है। वह दंगल का संचालन कर रहा था। किसानों के भेष में उपद्रवियों ने लोगों को मारा पीटा, अगर मेरा बेटा मौके पर होता तो उसको भी मारा जाता।

अजय मिश्रा ने आगे कहा कि मेरा बेटा अभी अपने घर में बैठा हुआ है। जिस को मिलना है, जाकर मिले नोटिस का जवाब हमने दे दिया है। आगे भी जो प्रक्रिया होगी, उसमें पूरा सहयोग रहेगा। मेरे मंत्री होते हुए भी मेरे बेटे पर FIR हो चुकी है। भाजपा की सरकार में न्याय होता है। जितने बड़े पद पर हूं, कोई और होता तो मुकदमा दर्ज नहीं होता।

सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार से पूछा- मामला 302 का है तो गिरफ्तारी अब तक क्यों नहीं हुई?

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा है कि जब मामला 302 (हत्या) का है तो गिरफ्तारी अब तक क्यों नहीं हुई? यूपी सरकार के वकील हरीश साल्वे ने कहा कि आशीष शनिवार को 11 बजे तक पेश हो जाएगा। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह जांच के लिए यूपी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट नहीं है। यूपी सरकार को अपने से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि जब तक कोई अन्य एजेंसी इस केस को नहीं संभालती है, तब तक मामले के सबूत सुरक्षित रखिएगा।

चीफ जस्टिस ने पूछा- आप संदेश क्या देना चाहते हैं
चीफ जस्टिस ( CJI) एनवी रमना ने सरकारी वकील से पूछा आखिर आप क्या संदेश देना चाहते हैं? 302 के मामले में पुलिस सामान्य तौर पर क्या करती है? सीधा गिरफ्तार ही करते हैं न, अभियुक्त जो भी हो कानून को अपना काम करना चाहिए। इस पर वकील हरीश साल्वे ने कहा कि किसानों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गोली लगने की बात सामने नहीं आई है। हालांकि, कोर्ट में यूपी सरकार ने यह भी बताया कि घटनास्थल से दो खाली कारतूस मिले थे। अभियुक्त आशीष मिश्रा को नोटिस भेजा गया है वो आज आने वाला था, लेकिन उसने कल सुबह तक का टाइम मांगा है। हमने उसे कल यानी शनिवार सुबह 11 बजे तक की मोहलत दी है।

सीजेआई ने पूछा कि जिम्मेदार सरकार और प्रशासन इतने गंभीर आरोपों पर अलग बर्ताव क्यों कर रहा है? वहीं, लखीमपुर मामले पर अब दशहरे की छुट्टियों के बाद सुनवाई होगी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होते ही कहा कि इस मामले में हमको 100 से ज्यादा मेल मिले हैं।

कल कोर्ट ने मांगी थी स्टेटस रिपोर्ट
इससे पहले बुधवार को इस मामले में कोर्ट ने संज्ञान लिया था। गुरुवार को हुई सुनवाई के दौरान CJI एनवी रमना की बेंच ने रिपोर्ट तलब की थी। कोर्ट ने यह भी पूछा है कि आशीष मिश्र की गिरफ्तारी हुई या नहीं? कोर्ट ने इस मामले की स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी। उधर, लखीमपुर में 3 अक्टूबर को भड़की हिंसा के 5 दिन बाद भी नेताओं का पहुंचना जारी है। पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू भी आज लखीमपुर पहुंचेंगे। वे पीड़ित परिवारों से मुलाकात करेंगे।

LIVE अपडेट्स

  • इस मामले में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि पिता को थाने में बुलाइए, बेटा अपने आप आएगा, पिता-पुत्र दोनों ही दोषी हैं।
  • आप सांसद संजय सिंह आज बहराइच पहुंचे। उन्होंने पीड़ित 2 किसान परिवारों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनकी बात कराई।
  • केजरीवाल ने कहा, अब तक आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए हैं। ये गलत है। पूरा देश देख रहा है। लोगों में बहुत गुस्सा है।
  • अखिलेश यादव आज बहराइच जा रहे हैं। वे दो मृतक किसानों के परिजनों से मुलाकात करेंगे। गुरुवार को वे लखीमपुर गए थे।
  • अकाली दल का पांच सदस्यीय दल लखनऊ पहुंच गया है। सांसद हरसिमरत कौर के साथ डेलिगेशन लखीमपुर रवाना हुआ।
  • हरसिमरत कौर ने कहा- सरकार के बच्चों के लिए अलग कानून है और गरीब किसान के लिए अलग। इसलिए पांच दिन से कोई गिरफ्तार नहीं हुआ।
लखनऊ एयरपोर्ट पर सांसद हरसिमरत कौर।

लखनऊ एयरपोर्ट पर सांसद हरसिमरत कौर।

सहारनपुर में गुरुवार को सिद्धू को हिरासत में ले लिया गया था। बाद में 20 लोगों के साथ उन्हें लखीमपुर जाने की इजाजत दी गई थी।

सहारनपुर में गुरुवार को सिद्धू को हिरासत में ले लिया गया था। बाद में 20 लोगों के साथ उन्हें लखीमपुर जाने की इजाजत दी गई थी।

कल क्या-क्या हुआ था

  • नवजोत सिंह सिद्धू गुरुवार को करीब 150 गाड़ियों के काफिले के साथ पंजाब के मोहाली से लखीमपुर के लिए निकले थे। सहारनपुर में UP पुलिस ने धारा-144 का हवाला देते हुए उनके काफिले को रोक दिया। इस पर सिद्धू के समर्थक भड़क गए। समर्थकों ने बैरिकेड्स तोड़ दिए।
  • पुलिस ने सिद्धू और उनके साथ गए मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग, विजयेंद्र सिंगला, गुरकीरत कोटली समेत 4 विधायकों को हिरासत में लिया था। इसके बाद सभी करीब पांच घंटे तक धरने पर बैठे रहे। शाम 6 बजे सभी को पुलिस ने छोड़ दिया। उनके साथ 20 लोगों को आगे जाने की अनुमति सहारनपुर प्रशासन ने दी थी। सिद्धू और उनके साथियों की रात उत्तराखंड के बाजपुर में कटी।
  • लखीमपुर हिंसा मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों लवकुश और आशीष पांडेय को गिरफ्तार किया है। हिंसा की जांच के लिए DGP मुकुल गोयल ने DIG उपेंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में 9 सदस्यीय टीम बनाई गई है।
  • किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि अगर 12 अक्टूबर तक लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का इस्तीफा और उनके बेटे आशीष मिश्र की गिरफ्तारी नहीं होती है तो देशभर में आंदोलन होगा।
  • UP सरकार ने हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस प्रदीप कुमार श्रीवास्तव की अगुवाई में एकल सदस्यीय न्यायिक आयोग भी बनाया है। यह आयोग दो माह में सरकार को रिपोर्ट देगा।
प्रियंका गांधी ने गुरुवार को बहराइच में लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसान दलजीत और गुरुविंदर के परिजनों से मुलाकात की।

प्रियंका गांधी ने गुरुवार को बहराइच में लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसान दलजीत और गुरुविंदर के परिजनों से मुलाकात की।

अखिलेश-प्रियंका ने सरकार पर साधा निशाना
गुरुवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखीमपुर में तीन मृतक किसानों के परिजनों से मुलाकात की। अखिलेश ने कहा- किसानों की हत्या का आरोप गृह राज्य मंत्री और उनके बेटे पर है। ऐसे में मंत्री को सैल्यूट करने वाला पुलिस अफसर कैसे मामले की जांच करेगा।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गुरुवार को बहराइच के दो मृतक किसानों के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जितने परिवारों से मैं मिली हूं, उन्हें न्याय चाहिए। गृह राज्य मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। जिन लोगों ने यह किया है उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए। हम चाहते हैं कि मामले की निष्पक्ष जांच हो।

अखिलेश यादव ने गुरुवार को लखीमपुर में पीड़ित परिजनों से मुलाकात की थी।

अखिलेश यादव ने गुरुवार को लखीमपुर में पीड़ित परिजनों से मुलाकात की थी।

लखीमपुर में 3 अक्टूबर को भड़की थी हिंसा
रविवार यानी 3 अक्टूबर को किसानों ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का विरोध करते हुए काले झंडे दिखाए थे। इसी दौरान एक गाड़ी ने किसानों को कुचल दिया था। इससे 4 किसानों की मौत हो गई थी। इसके बाद भड़की हिंसा में आरोप है कि किसानों ने एक ड्राइवर समेत चार लोगों को पीट-पीटकर मार डाला था। इस हिंसा में एक पत्रकार भी मारा गया।

इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र समेत 15 लोगों के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया गया है। सरकार और किसानों के बीच समझौता हुआ। सरकार ने मृतकों के परिवार को 45 लाख रुपए मुआवजा दिया। एक सदस्य को सरकारी नौकरी के साथ घटना की न्यायिक जांच और 8 दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी का वादा भी किया गया है।

खबरें और भी हैं…


RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -

You May Like

%d bloggers like this: