न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: सुरेंद्र जोशी
Updated Mon, 03 May 2021 12:23 AM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

देश में जारी महामारी के बीच ऑक्सीजन संकट गहराता जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि वह ऑक्सीजन उपलब्धता, कोरोना टीकों की उपलब्धता व मूल्य प्रणाली, आवश्यक दवाएं उचित मूल्य पर मुहैया कराने संबंधी उसके निर्देशों व प्रोटाकॉल का पालन करे। इन सभी मुद्दों पर अगली सुनवाई पर जवाब भी दाखिल किया जाए। 
 

केंद्र व राज्य सरकारें मिलकर करें काम
अदालत ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के मद्देनजर केंद्र और राज्य सरकार को मिलकर इससे मुकाबला करने की योजना बनानी चाहिए ताकि भविष्य से इससे निपटा जा सके। 

जब तक कोई ठोस नीति नहीं बन जाती किसी भी मरीज को अस्पताल में दाखिल करने और जरूरी दवा देने से इनकार नहीं किया जाना चाहिए। किसी के पास अगर परिचय पत्र नहीं है तब भी उसे इनकार नहीं किया जाना चाहिए। 

स बीच दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में मात्र तीन घंटे की ऑक्सीजन बची है। अस्पताल ने ट्वीट कर बताया कि आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स द्वारा रविवार को आपूर्ति की जाने वाली थी, वह लेट हो गई है। अस्पताल में 150 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। उनमें से 70 आईसीयू में हैं।  उसे जल्द से जल्द ऑक्सीजन मुहैया कराई जाए। 

विस्तार

देश में जारी महामारी के बीच ऑक्सीजन संकट गहराता जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि वह ऑक्सीजन उपलब्धता, कोरोना टीकों की उपलब्धता व मूल्य प्रणाली, आवश्यक दवाएं उचित मूल्य पर मुहैया कराने संबंधी उसके निर्देशों व प्रोटाकॉल का पालन करे। इन सभी मुद्दों पर अगली सुनवाई पर जवाब भी दाखिल किया जाए। 

 

केंद्र व राज्य सरकारें मिलकर करें काम

अदालत ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के मद्देनजर केंद्र और राज्य सरकार को मिलकर इससे मुकाबला करने की योजना बनानी चाहिए ताकि भविष्य से इससे निपटा जा सके। 

जब तक कोई ठोस नीति नहीं बन जाती किसी भी मरीज को अस्पताल में दाखिल करने और जरूरी दवा देने से इनकार नहीं किया जाना चाहिए। किसी के पास अगर परिचय पत्र नहीं है तब भी उसे इनकार नहीं किया जाना चाहिए। 

स बीच दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में मात्र तीन घंटे की ऑक्सीजन बची है। अस्पताल ने ट्वीट कर बताया कि आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स द्वारा रविवार को आपूर्ति की जाने वाली थी, वह लेट हो गई है। अस्पताल में 150 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। उनमें से 70 आईसीयू में हैं।  उसे जल्द से जल्द ऑक्सीजन मुहैया कराई जाए। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here