18 अक्टूबर को किसानों का रेल रोको आंदोलन: लखीमपुर हिंसा के विरोध में ऐलान; दो मांगे- केंद्रीय राज्यमंत्री को बर्खास्त और आरोपी बेटे को गिरफ्तार करो

0

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • There Is A Demand For The Dismissal Of The Union Minister Of State, The Arrest Of The Accused Son, Farmers Will Celebrate Martyrdom Day On 12

रोहतकएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक

संयुक्त किसान मोर्चा ने 18 अक्टूबर को देशभर में रेल रोको आंदोलन का ऐलान किया है। यूपी के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद केंद्र और यूपी सरकार के रवैये से नाराज होकर मोर्चा ने न्याय के लिए यह कॉल दी है। संयुक्त किसान मोर्चा की 2 मांगे हैं। इनमें केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय‌ मिश्र को बर्खास्त करना और लखीमपुर हिंसा के आरोपी उनके बेटे समेत अन्य आरोपियों को गिरफ्तारी करना शामिल है।

12 को किसान शहीदी दिवस मनाएं
संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों और आम जनता से लखीमपुर में शहीद हुए पांच किसानों को श्रद्धांजलि देने की अपील की है। मोर्चा ने कहा कि 12 अक्टूबर को सभी लोग अपने-अपने घरों के आगे 5 मोमबत्तियां जलाकर किसान शहीदी दिवस मनाएं।

सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक रोकेंगे ट्रेन
​​​​​​
कुंडली बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा समन्वय समिति की बैठक के बाद वरिष्ठ सदस्य डॉ. दर्शनपाल ने बैठक में लिए गए फैसलों के बारे में बताया। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र और यूपी सरकार लखीमपुर के दोषियों को बचाने के लिए जोर लगा रही है। सरकार का यह रवैया गलत है और इससे किसानों में गुस्सा है। अब किसान और इंतजार नहीं कर सकते।

डॉ. दर्शनपाल ने बताया कि 18 अक्टूबर को रेल रोको आंदोलन सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक चलेगा। मोर्चा का कहना है कि हम देश की जनता को परेशान नहीं करना चाहते, लेकिन गूंगी-बहरी सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए ऐसा करना पड़ रहा है।

धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक स्थानों पर प्रार्थना सभा
डॉ. दर्शनपाल ने कहा कि 12 अक्टूबर को शहीद किसान दिवस मनाया जाएगा। इसलिए संयुक्त किसान मोर्चा देशवासियों से लखीमपुर खीरी कांड में शहीद हुए 5 किसानों की अंतिम अरदास में शामिल होने की अपील करता है। उन्होंने 12 अक्टूबर को गुरुद्वारों, मंदिरों, चर्च, मस्जिद और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर प्रार्थना सभा और श्रद्धांजलि सभा आयोजित करने की अपील की।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply