43 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
41 साल के विवेक तनेजा एक टेक कंपनी के मालिक थे। - Dainik Bhaskar

41 साल के विवेक तनेजा एक टेक कंपनी के मालिक थे।

अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन में एक भारतीय मूल के एक शख्स की मौत हो गई। 41 साल के विवेक तनेजा एक रेस्टोरेंट के बाहर बेहोश हालात में मिले थे। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।

मामला 2 फरवरी का है। पुलिस ने अब इस मामले की से जुड़ी जानकारी दी है।

पुलिस ने कहा- 2 फरवरी को रेस्टोरेंट के बाहर विवेक का एक शख्स के साथ झगड़ा हुआ था। दोनों के बीच मारपीट हुई थी। जब हम वहां पहुंचे तो विवेक बेहोशी की हालत में मिले। जमीन पर गिरने की वजह से उनके सिर पर गहरी चोट आई थी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया। यहां 5 दिन बाद 7 फरवरी को उनकी मौत हो गई।

पुलिस ने रेस्टोरेंट के पास लगे CCTV के फुटेज से आरोपी की यह तस्वीर जारी की।

पुलिस ने रेस्टोरेंट के पास लगे CCTV के फुटेज से आरोपी की यह तस्वीर जारी की।

आरोपी की तलाश जारी
पुलिस CCTV फुटेज के आधार पर आरोपी की तलाश कर रही है। उस पर 20 लाख 75 हजार रुपए का इनाम भी रखा गया है। फिलहाल आरोपी की पहचान नहीं हुई है। झगड़े की वजह भी सामने नहीं आई है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। वहीं, विवेक वर्जिनिया राज्या के रहने वाले थे। वो एक टेक कंपनी के मालिक थे। उनके बारे में भी ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है।

4 फरवरी को भारतीय छात्र पर हमला हुआ था
शिकागो में 4 फरवरी को एक भारतीय छात्र पर हमला हुआ था। घटना का एक वीडियो सामने आया था। इसमें 3 हमलावर छात्र का पीछा करते नजर आए थे। इसके बाद तीनों ने उसे बुरी तरह पीटा था, फोन छीन लिया था और भाग गए थे। छात्र खून से लथपथ नजर आया था।

फुटेज में हमलावर भारतीय छात्र का पीछा करते नजर आ रहे हैं।

फुटेज में हमलावर भारतीय छात्र का पीछा करते नजर आ रहे हैं।

खाना लेने के लिए घर से निकला था छात्र
घटना के बाद कुछ लोग सैयद मजाहिर अली (छात्र) की मदद के लिए आए। मजाहिर ने उनसे कहा- ‘मैं घर से खाना लेने के लिए निकला था। मैंने खाने का सामन खरीदा और वापस घर जाने लगा। तभी तीन लोग आए और मेरा पीछा करने लगे। उन्होंने मुझ पर हमला कर दिया। भीड़ जमा होने लगी तो मेरा फोन छीनकर भाग गए।’

फुटेज भारतीय छात्र सैयद मजाहिर अली मास्टर्स का है। इसमें उसके चेहरे पर खून दिख रहा है। उसके सिर और नाक पर चोटें आई हैं।

फुटेज भारतीय छात्र सैयद मजाहिर अली मास्टर्स का है। इसमें उसके चेहरे पर खून दिख रहा है। उसके सिर और नाक पर चोटें आई हैं।

2 फरवरी को श्रेयस की मौत हुई थी
जनवरी 2024 से अब तक अमेरिका में चार और भारतीय छात्र- श्रेयस रेड्डी, नील आचार्य, विवेक सैनी और अकुल धवन मारे जा चुके हैं। 2 फरवरी को श्रेयस की मौत ओहायो में हुई। मौत की वजह सामने नहीं आ सकी।

न्यूयॉर्क स्थित भारतीय कॉन्सुलेट ने श्रेयस की मौत के बारे में जानकारी देते हुए कहा था- श्रेयस रेड्डी बेनिगर बिजनेस की पढ़ाई कर रहा था। उसकी मौत की खबर से दुखी हैं। इस मामले में पुलिस की जांच चल रही है।

19 साल का श्रेयस रेड्डी बेनिगर हैदराबाद का रहने वाला था।

19 साल का श्रेयस रेड्डी बेनिगर हैदराबाद का रहने वाला था।

ठंड की वजह से गई थी अकुल धवन की जान
अकुल धवन का शव 20 जनवरी 2024 को इलिनोइस अर्बाना-शैंपेन यूनिवर्सिटी के बाहर मिला था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक उसकी मौत ठंड लगने की वजह से हुई। रिपोर्ट में कहा गया- अकुल की मौत की वजह हाइपोथर्मिया थी। ये ऐसी स्थिति होती है जिसमें शरीर का तापमान सामान्य से बहुत कम हो जाता है।

अकुल धवन के लापता होने की खबर थी। इसके बाद धवन के माता-पिता ने यूनिवर्सिटी पर लापरवाही का आरोप लगाया था।

20 जनवरी को अकुल के लापता होने की खबर मिली थी। इसी दिन उसका शव भी मिला था।

20 जनवरी को अकुल के लापता होने की खबर मिली थी। इसी दिन उसका शव भी मिला था।

यूनिवर्सिटी कैंपस में मिला था नील आचार्य का शव
28 जनवरी को इंडियाना राज्य में भारतीय छात्र नील आचार्य की मौत हो गई थी। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, उन्हें 28 जनवरी सुबह करीब 11:30 बजे पर्ड्यू यूनिवर्सिटी कैंपस पर एक शव दिखने की खबर मिली थी। इसके बाद पुलिस ने नील की मौत की पुष्टि की थी। वो 12 घंटे से गायब था। उसकी मां गौरी आचार्य ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी थी। उसकी मौत की वजह भी सामने नहीं आई है।

नील की मां ने उसके गायब होने के बाद यह फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की थी। उन्होंने नील को ढूंढने में मदद मांगी थी।

नील की मां ने उसके गायब होने के बाद यह फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की थी। उन्होंने नील को ढूंढने में मदद मांगी थी।

बेघर शख्स ने भारतीय छात्र पर हथौड़े से हमला कर हत्या की
करीब 15 दिन पहले ही एक और अमेरिकी राज्य जॉर्जिया में एक भारतीय छात्र विवेक सैनी की हत्या कर दी गई थी। इस मामले की जानकारी रविवार को सामने आई थी। फॉक्स न्यूज के मुताबिक 25 साल के छात्र विवेक के सिर पर एक बेघर शख्स ने हथौड़े से 50 बार वार किया था। विवेक एक फूड मार्ट में काम करता था। उस स्टोर के बाहर एक बेघर शख्स आता था।

घटनास्थल की इस तस्वीर में हाथ में हथौड़ा लिए आरोपी और जमीन पर गिरा खून से लथपथ भारतीय छात्र दिख रहा है।

घटनास्थल की इस तस्वीर में हाथ में हथौड़ा लिए आरोपी और जमीन पर गिरा खून से लथपथ भारतीय छात्र दिख रहा है।

विवेक और स्टोर के बाकी कर्मचारियों ने इस बेघर शख्स को रहने के लिए जगह दी थी। वह यहीं रहता था, लेकिन 16 जनवरी को विवेक ने जब उसे जगह खाली करने के लिए कहा तो वो गुस्से में आ गया और उसने विवेक की हत्या कर दी। रविवार को पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here