मुंबई4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन यानी ONGC लिमिटेड का वित्त वर्ष 2024 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में मुनाफा सालाना आधार (YoY) पर 78% बढ़कर ₹11,526 करोड़ रहा। एक साल पहले की समान तिमाही में कंपनी का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट ₹6,478 करोड़ रहा था।

कंपनी ने वित्त वर्ष 2024 के लिए अपने निवेशकों को ₹2.50 प्रति शेयर के फाइनल डिविडेंड यानी लाभांश देने का ऐलान किया है। कंपनियां अपने शेयरधारकों को मुनाफे का कुछ हिस्सा देती हैं, उसे डिविडेंड कहते हैं। ONGC ने आज यानी 20 मई को चौथी तिमाही और सालाना नतीजे जारी किए हैं।

आय में सालाना आधार पर 1.64% की तेजी
ONGC के ऑपरेशन से कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू यानी आय में सालाना आधार पर 1.64% की तेजी आई। FY24 की चौथी तिमाही में ऑपरेशन से रेवेन्यू ₹1.66 लाख करोड़ रहा। एक साल पहले की समान तिमाही यानी FY23 की चौथी तिमाही में रेवेन्यू ₹1.64 लाख करोड़ रहा था।

वित्त वर्ष 2024 में कंपनी का मुनाफा 67% बढ़ा
ONGC का पूरे वित्त वर्ष 2024 में कंसॉलिडेटेड मुनाफा 67.71% बढ़कर ₹57,100 करोड़ हो गया। वित्त वर्ष 2023 में मुनाफा ₹34,046 करोड़ रहा था।

वित्त वर्ष 2024 में रेवेन्यू में 6.49% की गिरावट
वहीं ONGC का वित्त वर्ष 2024 में ऑपरेशन से कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू गिरकर ₹6.43 लाख करोड़ हो गया। वित्त वर्ष 2023 में रेवेन्यू ₹6.84 लाख करोड़ रहा था। यानी रेवेन्यू में 6.49% की गिरावट हुई है।

क्या होता है स्टैंडअलोन और कंसॉलिडेटेड?
कंपनियों के रिजल्ट दो भागों में आते हैं- स्टैंडअलोन और कंसॉलिडेटेड। स्टैंडअलोन में केवल एक यूनिट का वित्तीय प्रदर्शन दिखाया जाता है। जबकि, कंसॉलिडेटेड या समेकित फाइनेंशियल रिपोर्ट में पूरी कंपनी की रिपोर्ट दी जाती है।

यहां, ONGC की 6 सब्सिडियरी, 6 जॉइंट वेंचर और 3 एसोसिएट हैं। इन सभी के फाइनेंशियल रिपोर्ट को मिलाकर कॉन्सोलिडेटेड कहा जाएगा। वहीं, ONGC के अलग रिजल्ट को स्टैंडअलोन कहा जाएगा।

ONGC के शेयर ने एक साल में दिया 68% रिटर्न
रिजल्ट आने से पहले शनिवार को ONGC का शेयर 0.47% बढ़कर ₹278.95 पर बंद हुआ। पिछले एक साल में इसने 68.45% रिटर्न दिया है। कंपनी का मार्केट कैप 3.51 लाख करोड़ रुपए है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here