लंदन2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
ब्रिटेन ने पाकिस्तान में सिंध, खैबर पख्तूनख्वा, बलूचिस्तान, PoK और अफगान-पाक बॉर्डर को यात्रा के लिए सबसे खतरनाक क्षेत्र बताया है। (फाइल - Dainik Bhaskar

ब्रिटेन ने पाकिस्तान में सिंध, खैबर पख्तूनख्वा, बलूचिस्तान, PoK और अफगान-पाक बॉर्डर को यात्रा के लिए सबसे खतरनाक क्षेत्र बताया है। (फाइल

ब्रिटेन ने पाकिस्तान को यात्रा के लिए सबसे खतरनाक देशों की सूचि में शामिल किया है। ब्रिटेन के फॉरेन एंड कॉमनवेल्थ ऑफिस (FCO) ने ट्रैवल ए़डवाइजरी में पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट कर दिया है।

इसमें सिंध, खैबर पख्तूनख्वा, बलूचिस्तान, पाक-अफगान बॉर्डर और PoK को हाई रिस्क वाले क्षेत्र बताया गया है। लिस्ट में 8 नए देशों का नाम जोड़ा गया है, जिनमें ईरान, रूस, यूक्रेन, इजराइल, बेलारूस और फिलिस्तीन शामिल हैं। इसके साथ ही ब्लैकलिस्ट हुए कुल देशों की संख्या 24 हो गई है।

इसके अलावा ब्रिटेन ने भारत को भी रेड लिस्ट में रखा है। यानी ब्रिटिश नागरिकों को जब तक बहुत जरूरी न हो तब तक भारत के कुछ हिस्सों में न जाने की सलाह दी गई है। इनमें जम्मू-कश्मीर, मणिपुर और भारत-पाक बॉर्डर का नाम शामिल है।

ब्रिटेन ने पिछले साल भी पाकिस्तान को लेकर ट्रैवल एडवाइजरी जारी की थी। इसमें पाकिस्तान में आतंकी हमले की आशंका जताई गई थी। (फाइल)

ब्रिटेन ने पिछले साल भी पाकिस्तान को लेकर ट्रैवल एडवाइजरी जारी की थी। इसमें पाकिस्तान में आतंकी हमले की आशंका जताई गई थी। (फाइल)

अफगानिस्तान-इराक भी ब्लैकलिस्ट में शामिल
पाकिस्तान के अलावा ब्लैकलिस्ट किए गए देशों में अफगानिस्तान, इराक, यमन, सीरिया और सोमालिया जैसे देश हैं। वहीं भारत के साथ रेड लिस्ट में मिस्र, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलिपींस और सऊदी अरब का नाम शामिल है।

मैनचेस्टर ईवनिंग न्यूज के मुताबिक, ब्रिटेन ने ट्रैवल एडवाइजरी जंग, अपराध, आतंक, गंभीर बीमारी और प्राकृतिक आपदाएं जैसे खतरों को ध्यान में रखकर जारी की है। इससे पहले पिछले साल जुलाई में भी UK ने पाकिस्तान को लेकर ट्रैवल गाइडलाइन अपडेट की थी। पाकिस्तान में आतंक के खतरे को देखते हुए ब्रिटिश नागरिकों को वहां न जाने की सलाह दी गई थी।

पाकिस्तान में आंतकी हमले, सांप्रदायिक हिंसा का खतरा
एडवाइजरी में कहा गया था, “पाकिस्तान में आतंकी हमला होने की आशंका बहुत ज्यादा है। इसके अलावा वहां किडनैपिंग और सांप्रदायिक हिंसा का भी खतरा है।” इस एडवाइजरी में इस्लामाबाद, रावलपिंडी, लाहौर और कराची को रेड अलर्ट वाले शहर बताया गया था।

इसके अलावा ब्रिटिश नागरिकों को मोहमंद, खैबर, कुर्रम, नॉर्थ और साउथ वजीरिस्तान में न जाने की सलाह दी गई थी। ब्रिटेन ने यह भी कहा था कि पाकिस्तान में पश्चिमी लोगों को सीधा टारगेट किए जा सकता है। ऐसे में वे हर तरह के सार्वजनिक कार्यक्रमों और भीड़ से बचने की कोशिश करें।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here